वर्तमान कार्य

23 copy

भोजन आपके आँगन

गरीब ,बीमार,विधवा ,वृद्ध महिलाओं जिनका कोई सहारा नहीं ,जिनकी कोई छत नहीं है ऐसे लोगो को मासिक राशन सामग्री प्रदान करना जिससे ये अपना पेट भर सके । ग्रामीण अंचल में निवास करने वाले बीमार कुपोषित बच्चों को पोष्टिक आहार प्रदान करना ।

शिक्षा आपके द्वार

ऐसे गरीब एवं असहाय परिवार जो अपने बच्चों को आर्थिक समस्या के कारण शिक्षा ग्रहण करने के समय बाल मजदूरी पर भेज देते है उन बच्चों के सर्वांगीण विकास एवं शिक्षा के प्रचार हेतु प्रारम्भिक स्तर से उच्च स्तर तक के विद्यालयों में शिक्षा से जोड़ना ।

jalaram seva sansthan (35)

स्वास्थ्य

दूर-दराज आदिवासी क्षेत्रों में संक्रमक बिमारिओ जैसे एड्स ,क्षय ,कुष्ठ अदि रोगों के बारे में लोगो को जागरूकता पैदा करना । ग्रामीण क्षेत्रो में बीमारियों से ग्रसित लोगो को सही समय पर इलाज नहीं मिलने से आये दिन मौत हो रही है उनको स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवाना । जैसे स्वास्थ्य प्रशिक्षण करना, कैम्प आयोजित करना ,निशुल्क इलाज करवाना ।
ऐसे ग्रामीण क्षेत्र जहां दूर-दूर तक कोई साधन उपलब्ध नहीं है वहां रोगी अपनी जिंदगी से खेल रहा होता है उस अंचल पर एम्बुलेंस की व्यवस्था या संसथान द्वारा निजी वाहन का उपयोग कर प्राथमिक उपचार करने के बाद तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंचाना ।


22 copy

आर्थिक मदद

परित्यक्तता ,विधवा एवं जरूरतमंद महिलाओं को निशुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण में प्रशिक्षित कर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना ।
वृद्धों ,अशक्तों ,निराश्रितो ,निःसहायो ,संतानहीनो एवं परित्यक्तताओ के कल्याण कार्य करना उनको दवाइया ,भोजन एवं वस्त्र की निशुल्क सुविधाए उपलब्ध कराना जिससे वे अपना जीवन यापन कर सके ।

गौ-सेवा

गौ हत्या रोकना,गौ माँ को गोद लेना कुछ ऐसे परिवार जिनके पास गाय तो है परन्तु गरीबी के कारण वो उनका भरण पोषण नहीं कर पते है इसलिए उनको बाजार में बेच दिया जाता है या लावारिस छोड़ दिया जाता है ।
राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रो में अकाल एक आम समस्या है । इस आपदा के समय प्रशुधन को बचने हेतु प्रयास करना व पशुओ के चारा ,पानी , दवाईया आदि की व्यस्था करना ।